Gola Gokarnath Kheri:-
Poetry seminar organized at Indian Heritage Academy on the occasion of Gandhi Jayanti and Lal Bahadur Shastri Jayanti

गोला गोकर्णनाथ खीरी:-

 गांधी जयंती एवं लाल बहादुर शास्त्री जयंती के अवसर पर इंडियन हेरिटेज एकेडमी में काव्य गोष्ठी का आयोजन न्यू चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी द्वारा किया गया नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष मीनाक्षी अग्रवाल के प्रतिनिधि अरविंद पांडे एवं अध्यक्षता कवि नंदी लाल निराश नेकी विशिष्ट अतिथि के रूप में कवि बेनी राम अनजान संत कुमार बाजपेई द्वारिका प्रसाद रस्तोगी रहे कवि गोष्ठी का शुभारंभ मां सरस्वती एवं राष्ट्रपिता गांधी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पूजन अर्चन कर मुख्य अतिथि पांडे एवं अतिथियों ने किया। 


न्यू चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी के प्रांतीय अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों ने आए हुए समस्त कवियों एवं अतिथियों का माल्यार्पण कर उन्हें सम्मानित किया उक्त अवसर पर मुख्य अतिथि अरविंद पांडे ने अपने संबोधन में कहा कवि अपनी वाणी से राष्ट्र का मार्गदर्शन करते हैं और भारत माता के मान सम्मान को बढ़ाने में अपने अग्रणी भूमिका का निर्वहन करते हैं उन्होंने चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी के समस्त पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के प्रति आभार प्रकट किया और सोसाइटी के कार्यों की सराहना भी की। कार्यक्रम के अध्यक्ष नंदीलाल निराश ने कवियों एवं अतिथियों का आभार प्रकट करते हुए कहा की इस  प्रकार की काव्य गोष्ठी का आयोजन समय-समय पर होता रहे न्यू चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी के प्रांतीय अध्यक्ष आलोक तिवारी महामंत्री संजीव दिक्षित उपाध्यक्ष मनोज वर्मा प्रांतीय कोषाध्यक्ष महेंद्र वर्मा ब्रजकिशोर शाह मोहित कनौजिया ने सभी कवियों के प्रति आभार व्यक्त किया कवि गोष्ठी का सफल संचालन अभिषेक निष्कर्ष ने किया

कवि गोष्ठी में मां सरस्वती की वंदना बेनी राम अनजान ने की कवि श्रीकृष्ण तिवारी कृष्णा ने अपने काव्य में कहा-

राष्ट्र के तुम पिता देश पर सब लुटा

दे गए यह वतन तुमको शत-शत नमन। । 

इसी श्रंखला में शशिकांत मिश्र शशि ने कहा-

दूध पिया है तुमने मां का उसको नहीं लजा देना

रण में बैरी के सम्मुख तुम पीठ नहीं दिखला देना। । 

शिवम श्रीवास्तव ने अपनी रचना प्रस्तुत करते हुए-

लाखों वीरों ने दी कुर्बानी लाशें भी घर आई हैं

वह कहते हैं सत्य अहिंसा से आजादी पाई है। । 

आलोक तिवारी ने अपने काव्य पाठ में कहा-

सत्य अहिंसा का जिसने सुंदर सा पाठ पढ़ाया

ब्रिटिश हुकूमत को जिसने भारत से दूर भगाया। । 

द्वारिका प्रसाद रस्तोगी ने कविता प्रस्तुत करते हुए कहा-

तमन्ना राष्ट्र गौरव की निजी हित छू भी ना पाए

बुजुर्गों की हर बात गीता सार हो जाए। । 

रमेश पांडे शिखर ने अपने काफी में कहा-

ऐनक के पीछे मैंने उसकी आंखों को नम देखा। 

अक्सर सपने में आता है जो बुजुर्ग चरखा लेकर

संत कुमार बाजपेई संत ने कहा-

सत्य अहिंसा के पथ पर तुम चले अभय अविराम

युग के महापुरुष है बापू युग का तुम्हें प्रणाम

बेनी राम अंजान ने कहा-

राष्ट्र की अस्मिता आज खतरे में है

चंदबरदाई  भूषण बना दो हमें

देश को यदि जरूरत पड़े रक्त की

शीश मेरा लगा दांव  पर दीजिए

अभिषेक निष्कर्ष ने कहा-

तुम्हारे बिन यह होली और दिवाली कुछ ना रौनक दे

तुम्हें जो देख लूं एक पल तो सब त्यौहार हो जाते हैं। । 

नंदीलाल निराश नेकाब रचना प्रस्तुत करते हुए कहा-

बंद कमरे में सभा सरकार की होती रही

भूख से व्याकुल अभागिन द्वार पर रोती रही। 

रमाकांत चौधरी ने अपने काव्य में कहा-

दो लाल थे ऐसे भी जन्म में जिन्होंने अद्भुत काम किया

अपने भारत का जग में ऊंचा नाम किया। । 

न्यू चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी के प्रांतीय अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों ने आए हुए समस्त कवियों एवं अतिथियों का माल्यार्पण कर उन्हें सम्मानित किया उक्त अवसर पर मुख्य अतिथि अरविंद पांडे ने अपने संबोधन में कहा कवि अपनी वाणी से राष्ट्र का मार्गदर्शन करते हैं और भारत माता के मान सम्मान को बढ़ाने में अपने अग्रणी भूमिका का निर्वहन करते हैं उन्होंने चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी के समस्त पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं के प्रति आभार प्रकट किया और सोसाइटी के कार्यों की सराहना भी की। कार्यक्रम के अध्यक्ष नंदीलाल निराश ने कवियों एवं अतिथियों का आभार प्रकट करते हुए कहा की इस  प्रकार की काव्य गोष्ठी का आयोजन समय-समय पर होता रहे न्यू चिल्ड्रन वेलफेयर सोसाइटी के प्रांतीय अध्यक्ष आलोक तिवारी महामंत्री संजीव दिक्षित उपाध्यक्ष मनोज वर्मा प्रांतीय कोषाध्यक्ष महेंद्र वर्मा ब्रजकिशोर शाह मोहित कनौजिया ने सभी कवियों के प्रति आभार व्यक्त किया कवि गोष्ठी का सफल संचालन अभिषेक निष्कर्ष ने किया

पूरी स्टोरी पढ़िए