समस्या समाधान परिवार द्वारा लापरवाह लोगों के द्वारा उपेक्षित हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को एकत्रित कर उल्ल नदी में किया गया विसर्जित ।

 गोला गोकरन नाथ| समस्या समाधान परिवार द्वारा लापरवाह लोगों के द्वारा उपेक्षित हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को एकत्रित कर उल्ल नदी में विसर्जित किया गया।

संचालक रजनीश गुप्ता बताते हैं कि आज अपने जन्म दिवस के मौके पर समस्या समाधान परिवार के सदस्यों के साथ मिलकर नीलकंठ मैदान में कई लोगों के द्वारा दीपावली में मूर्तियों की नई स्थापना के पश्चात हटाई गई मूर्तियों को नीलकंठ मैदान में पीपल के पेड़ के नीचे एकत्र करके कूड़े के ढेर के रूप में रख दी गई, जहां पर दीपावली से रोज झाड़ू लगकर उन देवी देवताओं की मूर्तियों को किनारे किया जाता रहा है जिससे हमारे देवी देवताओं और हिंदू धर्म का घोर अपमान होता है इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए आज समाज को जागरूक करने के उद्देश्य वहां की सारी मूर्तियों को एकत्रित कर और स्थान को साफ कर सारी मूर्तियों को तुरंत अलीगंज रोड पर उल्ल नदी में जाकर विसर्जित की गई।

एसके दीक्षित ने मूर्तियों को इस तरह से उपेक्षित कर पेड़ों के नीचे डालने वाले लोगों की घोर निंदा की, सहसंचालक कृषांग गुप्ता ने ने कहा की प्रतिवर्ष हिंदुओं के त्यौहार दीपावली में मूर्ति बदलने की परंपरा चली आ रही है कुछ हमारे समाज के जिम्मेदार लोगों को इस विषय पर भी कार्य करना अवश्य कार्य करना चाहिए और नगर पालिका के द्वारा पूरे नगर से इस तरह की मूर्तियों को एकत्रित कर विसर्जित करने का कार्य पूर्ण करना चाहिए

रोट्रैक्ट क्लब गोला काशी के त्रिनयन राजपूत के द्वारा इस विषय पर पहले से ही कार्य किया जा रहा है उन्होंने इस मौके पर कहा कि नगर की सभी सामाजिक संस्थाएं, ठेकेदार, सभासद व नगर पालिका को अपने अपने क्षेत्र में कार्य कर धर्म को बदनाम होने से बचाने के लिए इस पुनीत कार्य में सहभागिता निभानी चाहिए।

इस मौके पर संतोष मौर्या, दिलीप निषाद, चंद्र प्रकाश मौर्य आदि लोग मौजूद रहे।

पूरी स्टोरी पढ़िए